Story of Spy: व्लादिमीर पुतिन की ताकत के पीछे है ‘द फोर्थ मैन’ का हाथ, 10 साल की अमेरिका की जासूसी, जानिए दुनिया के सबसे ‘बड़े जासूस’ के बारे में

Putin 1

रूस और यूक्रेन (Russia Ukraine War) के बीच पिछले 4 महीने से भी अधिक समय से युद्ध चल रहा है. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन (Vladimir Putin) के इशारे पर उनकी सेना यूक्रेन के कई शहरों को तबाह कर चुकी है. यूक्रेन से हजारों लोग विस्थापित हो चुके हैं. हर जगह युद्ध सिर्फ बुरे हालात छोड़ रहा है. इस बीच आज एक ऐसे जासूस (Spy) के बारे में आपको बताने जा रहे हैं, जिसकी मदद के कारण व्लादिमीर पुतिन को सत्ता नसीब हुई है. इस जासूस की पहचान अब तक सामने नहीं आ पाई है. उसे लोग ‘द फोर्थ मैन’ (The Fourth Man) के नाम से जानते हैं.

इस ‘द फोर्थ मैन’ नाम के जासूस ने अमेरिका की जासूसी भी की है. उसने यह जासूसी करीब 10 साल तक की है. कहा जाता है कि यह ‘द फोर्थ मैन’ सोवियत संघ के समय में मौजूद जासूसों में से एक है. इसी जासूस ने पुतिन को सत्ता पर काबिज होने में मदद की, लेकिन इसको आजतक कोई भी पहचान नहीं पाया है.

दुनिया के बड़े जासूसों में से एक

कहा जाता है कि यह जासूसी की दुनिया के सबसे बड़े जासूसों में से एक है. कहा जाता है कि उसका और उसके सहयोगियों का मिशन काफी विनाशकारी था. उस समय रूसी जासूसों ने अमेरिकी एजेंसी सीआईए को भी अंधा और लकवाग्रस्त कर रखा था. उन्हें रूस और पुतिन के बारे में कोई भी गुप्त जानकारी हाथ नहीं लग पाती थी. इसी कारण पूर्व केजीबी जासूस पुतिन सत्ता की ओर बढ़ने और शक्तियां मजबूत करने में सफल रहे थे.

देखें वीडियो-

पूर्व सीआईए एजेंट ने किए बड़े दावे

द सन की रिपोर्ट के अनुसार पूर्वी सीआईए एजेंट रॉबर्ट बेयर ने जानकारी दी है कि उस समय जासूस दुनिया का इतिहास बदल सकते थे. द फोर्थ मैन ने वॉशिंगटन में काम करने के दौरान सीआईए की खुफिया जानकारी भी लीक की थी. यह भी माना जाता है कि अगर द फोर्थ मैन को मार दिया गया होता तो अमेरिकी खुफिया विभाग पुतिन से अमेरिका को होने वाले खतरे की पहचान करने में सफल रहता. साथ ही वह तब रूस को चेतावनी भी दे सकता था.

1999 में सत्ता पाने में मदद की

इस पूर्व जासूस के मुताबिक तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति बिल क्लिंटन और रूसी नेता बोरिस येल्तसिन के बीच हुई बातचीत पुतिन और केजीबी तक लीक हुई थी. यह दावा किया जाता है कि पुतिन ने येल्तसिन को डराने के लिए इसका इस्तेमाल करने में मदद की और 1999 में सत्ता पा ली. पुतिन ने येल्तसिन को रूसी फेडरेशन के अध्यक्ष पद से हटाया और क्रेमलिन की राजनीति में सुधार शुरू किए. उनके इन सुधारों के कारण देश में हमेशा के लिए कई अच्छे बदलाव हो गए.

Admission.com
www.lyricsmoment.com
admission9.com
lyricsmoment.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.