Maharashtra: विधानसभा अध्यक्ष चुनाव की चुनौती पार अब आज शिंदे गुट की ‘फाइनल’ परीक्षा, फ्लोर टेस्ट का सामना करेगी नई सरकार

Maharashtra Crisis Eknath Shinde Devendra Fadnavis

महाराष्ट्र में शिंदे गुट ने विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव (Maharashtra Assembly Speaker) जीत कर रविवार को एक बाजी मार ली है अब दूसरी चुनौती आज है. सोमवार यानी आज विधानसभा में फ्लोर टेस्ट होना है (Maharashtra Floor Test). अब जिस के लिए शिंदे गुट तैयार है. दरअसल महाराष्ट्र विधानसभा का दो-दिवसीय विशेष सत्र कल से शुरू हुआ. इसमें रविवार को हुए विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के विधायक राहुल नार्वेकर ने जीता जिसे शिंदे गुट का समर्थन था. अब आज शिंदे गुट (Eknath Shinde) की फाइनल अग्निपरिक्षा है, जिसमें एकनाथ शिंदे-नीत नवगठित सरकार को विश्वास मत का सामना करना है. वहीं आज होने वाला फ्लोर टेस्ट ठाकरे गुट के लिए भी चुनौती है.

इससे पहले रविवार शाम को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने शिवसेना विधायकों के अपने धड़े के साथ डेप्युटी सीएम देवेंद्र फडणवीस और भाजपा विधायकों तथा पार्टी के अन्य नेताओं की मौजूदगी में मुंबई के एक होटल में फ्लोर टेस्ट की रणनीति बनाने के लिए बैठक की. डेप्युटी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने दावा किया कि शिंदे सरकार 166 वोटों के साथ बहुमत साबित करेगी. उन्होंने कहा कि सबसे कम उम्र के स्पीकर उम्मीदवार राहुल नार्वेकर ने रविवार को 164 वोटों के साथ स्पीकर का चुनाव जीता. दो विधायक स्वास्थ्य कारणों से उपस्थित नहीं थे। हमें भरोसा है कि विश्वास मत में हम 166 वोटों के साथ अपना बहुमत साबित करेंगे. वर्तमान में 288 सदस्यीय महाराष्ट्र विधानसभा में भाजपा के 106 विधायक हैं और शिंदे शिवसेना के 39 बागी विधायकों और कुछ निर्दलीय विधायकों के साथ होने का दावा कर रहे हैं. हाल ही में शिवसेना के एक विधायक की मृत्यु के बाद विधानसभा की वर्तमान संख्या घटकर 287 हो गई है. ऐसे में सदन में बहुमत का आंकड़ा 144 है.

ठाकरे गुट के लिए व्हिप कर सकता है मुश्किल खड़ी

फ्लोर टेस्ट से पहले बीजेपी-शिंदे गुट के विधायकों ने एकनाथ शिंदे को अपना नेता चुन लिया है. स्पीकर राहुल नार्वेकर ने भी शिंदे को नेता के तौर पर मान्यता दे दी है. उनकी तरफ से भरत गोगावले को चीफ व्हिप नियुक्त कर दिया है. वहीं उद्धव गुट के अजय चौधरी को पहले विधायक दल का नेता बनाया गया था, उनकी नियुक्ति को स्पीकर ने रद्द कर दिया है. उनके साथ-साथ सुनील प्रभु को भी चीफ व्हिप के पद से हटा दिया गया है. यह घटनाक्रम 16 विधायक वाले उद्धव ठाकरे गुट के लिए एक बड़ा झटका है, क्योंकि वे सोमवार को होने वाले विश्वास मत के लिए गोगावले द्वारा जारी किए जाने वाले व्हिप से बंधे होंगे. अगर ये 16 विधायक व्हिप का पालन करने से इनकार करते हैं, तो उन्हें अयोग्यता का सामना करना पड़ सकता है. शिवसेना के मुख्य प्रवक्ता और सांसद अरविंद सावंत ने कहा कि वे इस असंवैधानिक फैसले को अदालत में चुनौती देंगे.

इधर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी प्रमुख शरद पवार ने रविवार को कहा कि महाराष्ट्र में मध्यावधि चुनाव होने की संभावना है, क्योंकि शिवसेना के बागी नेता एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली राज्य सरकार अगले छह महीने में गिर सकती है. पवार ने रविवार शाम को राकांपा विधायकों और पार्टी के अन्य नेताओं को संबोधित करते हुए यह बात कही. बैठक में शामिल राकांपा के एक नेता ने पवार के हवाले से कहा, महाराष्ट्र में नवगठित सरकार अगले छह महीनों में गिर सकती है, इसलिए सभी को मध्यावधि चुनाव के लिए तैयार रहना चाहिए.

Admission.com
www.lyricsmoment.com
admission9.com
lyricsmoment.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.