High BP : अश्वगंधा जैसी इन हर्ब्स को डाइट में करें शामिल, 40 की उम्र के बाद भी बीपी रहेगा कंट्रोल

High Bp Control By These Herbs Are Beneficial For Health In Hindi

उम्र के बढ़ने के साथ हेल्थ प्रॉब्लम से ग्रसित होना स्वाभाविक है, लेकिन ये समय से पहले आपको प्रभावित करने लगे, तो ये टेंशन की वजह हो सकती है. आजकल के युवाओं को 40 तो दूर 30 की उम्र में कई गंभीर बीमारियां हो रही हैं. इसके पीछे बिजी शेड्यूल, बिगड़ हुआ लाइफस्टाइल, ( Lifestyle ) स्ट्रेस, डिप्रेशन व अन्य कारण हो सकते हैं. एक्सपर्ट्स का मानना है कि इस भागदौड़ भरी जिदंगी में सेल्फ केयर के लिए हम सभी को एक्टिव हो जाना चाहिए. अधिकतर मामलों में 40 की उम्र के बाद बीमारियों का होना तय माना जाता है, जिसमें हाई बीपी ( High Blood Pressure ) का होना एक कॉमन बात है. हाई बीपी से ग्रसित लोगों के लिए मुश्किल की बात ये है कि उन्हें लंबे समय तक इस बीमारी का पता नहीं चलता है, जिससे हार्ट अटैक और किडनी फेलियर का खतरा बहुत बढ़ जाता है.

इसी कारण स्वास्थ्य की देखभाल के प्रति अधिक सतर्क होना बहुत जरूरी है. आयुर्वेद में हाई बीपी को कंट्रोल करने के कई उपाय बताए गए हैं, जिनमें से एक हर्ब्स यानी जड़ी-बूटियों का सेवन भी शामिल है. जानें 40 की उम्र के बाद आप अश्वगंधा और तुलसी जैसी इन जड़ी-बूटियों से कैसे बीपी को कंट्रोल में रख सकते हैं.

अश्वगंधा

आयुर्वेद में अश्वगंधा का विशेष महत्व बताया गया है. बिजी लाइफस्टाइल, स्ट्रेस, डिप्रेशन का सामना करने वाले इस जड़ी-बूटी की मदद से मन और दिमाग दोनों को शांत कर सकते हैं. आप मानसिक रूप से ठीक रहेंगे, तो आपका बीपी भी कंट्रोल में रहेगा. अश्वगंधा का सेवन सही तरीके से किया जाए, तो इसका कोई नुकसान भी नहीं होता. आप इसे आसानी से डाइट में शामिल कर सकते हैं. इसके लिए अश्वगंधा पाउडल लें और इसे गर्म पानी में मिला लें. सुबह-सुबह अश्वगंधा के इस पानी का सेवन करें. ऐसा कुछ दिनों तक नियमित रूप से करें और आप फर्क देख पाएंगे.

तुलसी

भारत में हेल्थ और धार्मिक दृष्टि से तुलसी को बहुत अहम माना गया है. प्राचीन समय से लोग इस पवित्र पौधे की पूजा और स्वस्थ रहने के लिए सेवन करते आ रहे हैं. औषधीय गुणों से पूर्ण तुलसी हाई बीपी वालों के लिए किसी रामबाण से कम नहीं है. इसके पत्तों में यूजेनॉल नाम का यौगिक होता है, जो नेचुरल कैल्शियम चैनल अवरोधक के तौर पर काम करता है और हाई बीपी को कंट्रोल करता है. रोजाना खाली पेट तुलसी के पत्ते चबाएं या फिर इसकी बनी हुई चाय पिएं.

हेल्थ केयर से जुड़ी अन्य खबरें यहां पढ़ें

Admission.com
www.lyricsmoment.com
admission9.com
lyricsmoment.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.