CWG में हिस्सा नहीं ले पाएंगे तेजस्विन शंकर, वर्किंग कमेटी ने नहीं मानी AFI की दलील, एथलीट का नाम कर दिया रिजेर्ट

Tejaswin

भारत के हाई जंपर तेजस्विन शंकर इस साल कॉमनवेल्थ गेम्स (Commonwealth Games) में हिस्सा नहीं ले पाएंगे. एएफआई ने उनका नाम भारतीय दल में शामिल किया था लेकिन कॉमनवेल्थ की वर्किंग कमेटी ने तेजस्विन के नाम को स्वीकार नहीं किया है. इंडियन ओलिंपिक एसोसिएशन के सचिव राजीव मेहता ने बताया कि गुरुवार को लिस्ट भेजी गई थी लेकिन रात में बताया गया कि तेजस्विन (Tejaswin Shankar) का नाम स्वीकार नहीं किया गया है. कॉमनवेल्थ गेम्स में हिस्सा लेने के लिए तेजस्विन हाई कोर्ट तक पहुंच गए थे.

राजीव की जगह भेजा गया था तेजस्विन शंकर का नाम

तेस्विन के नाम हटाने के पीछे के कारण के बारे में राजीव मेहता ने स्पोर्ट्स्टार से कहा, ‘नियमों के मुताबिक किसी एक इवेंट के खिलाड़ी से दूसरे इवेंट के खिलाड़ी को रिप्लेस नहीं किया जा सकता. अगर खिलाड़ी की जगह दूसरे खिलाड़ी को मौका देना है तो जरूरी है कि वह उसी इवेंट का हो.’ एएफआई ने 400 मीटर के एथलीट अरोकिया राजीव के डिस्क्वाफाई होने के बाद उनकी जगह तेजस्विन का नाम शामिल किया था. हालांकि नियमों के मुकाबिक क्योंकि तेजस्विन एक हाई जंपर हैं वह राजीव की जगह नहीं ले सकते. इस खबर से तेजस्विन को बड़ा झटका लगा है जो कि खेलों की तैयारियों में जुट गए थे. दिल्ली हाई कोर्ट ने ही राजीव की जगह तेजस्विन का नाम भेजने की सिफारिश की थी.

दिल्ली हाई कोर्ट ने दिया था एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया को निर्देश

इससे पहले दिल्ली हाई कोर्ट ने चयन समिति को निर्देश दिया था कि वह योग्यता के एथलीट तेजस्विन शंकर के नाम पर विचार करें जिन्हें 2022 बर्मिंघम राष्ट्रमंडल खेलों में भाग लेने वाली टीम से बाहर रखा गया है. उच्च न्यायालय ने कहा था कि शंकर के नाम को खारिज करने के लिये उनका अंतरराज्यीय चैम्पियनशिप में भाग लेना एकमात्र मानदंड नहीं होना चाहिए क्योंकि वह पदक दावेदार हैं इसलिये इसमें अहं का मुद्दा नहीं होना चाहिए. यह याचिका एएफआई को यह निर्देश देने के लिये दायर की गयी कि शंकर को अंतरराज्यीय सीनियर एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में हिस्सा नहीं लेने के आधार पर राष्ट्रमंडल खेल 2022 में भाग लेने से डिसक्वालीफाई नहीं किया जाये और उन्हें इस आधार पर भाग लेने की अनुमति दी जाये कि उन्होंने राष्ट्रीय कॉलेजिएट एथलेटिक संघ चैम्पियनशिप में क्वालीफाइंग मानक हासिल कर लिया था.

एएफआई ने अंतरराज्यीय सीनियर एथलेटिक्स चैंपियनशिप में भाग नहीं लेने के कारण शंकर को राष्ट्रमंडल खेलों के लिए अयोग्य करार दिया था लेकिन उन्होंने उसी समय अमेरिका में राष्ट्रीय कॉलेजिएट एथलेटिक संघ चैम्पियनशिप में क्वालीफाइंग मानक हासिल कर लिया था. उन्होंने 10 जून को 2.27 मीटर के प्रयास से इसमें स्वर्ण पदक जीता था, जो एएफआई द्वारा निर्धारित क्वालीफाइंग मानक है.

Admission.com
www.lyricsmoment.com
admission9.com
lyricsmoment.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.