Boris Johnson Resign: बोरिस जॉनसन छोड़ रहे पीएम की कुर्सी, अब ब्रिटेन की राजनीति में आगे क्या होगा? जानें पूरा खेल

Boris Johnson

Boris Johnson Resigned: बोरिस जॉनसन आखिरकार अपने पद से इस्तीफा देने वाले हैं. पिछले कुछ दिन ब्रिटेन की राजनीति में ऐतिहासिक रहे हैं, क्योंकि बोरिस के खुद के 50 सांसदों ने इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद वह खुद कुर्सी छोड़ने को मजबूर हुए हैं. राजनीतिक संकट की शुरुआत चांसलर ऋषि सुनक और स्वास्थ्य मंत्री साजिद जाविद के इस्तीफे से हुई. यहां गौर करने वाली बात ये है कि कभी बोरिस (Boris Johnson) के समर्थक माने जाने वाले सांसदों ने भी संकट की इस घड़ी में उनसे मुंह फेर लिया. हालांकि, बोरिस ने आखिरी दम तक अपनी कुर्सी बचाए रखने का प्रयास किया. लेकिन उन्हें घुटने टेकने पर मजबूर होना पड़ा.

बोरिस ने कहा है कि वह कंजरवेटिव पार्टी (टोरी) के नेता के तौर पर इस्तीफा देने के लिए तैयार हैं. इस तरह देश में राजनीतिक संकट का समापन हुआ. अब पार्टी के अगले नेता को चुना जाएगा, जो प्रधानमंत्री की कुर्सी पर भी काबिज होगा. हालांकि, जब तक नए नेता का चुनाव नहीं हो जाता है, तब तक 58 वर्षीय जॉनसन ब्रिटिश पीएम की कुर्सी पर बने रहने वाले हैं. मिली जानकारी के मुताबिक, अक्टूबर में पार्टी का सम्मेलन होना है, जिसमें नए नेता के नाम पर मुहर लग जाएगी. ऋषि सुनक और विदेश मंत्री लिज ट्रूस समेत छह नेता इस समय पीएम रेस में सबसे आगे चल रहे हैं. ऐसे में आइए अब समझते हैं कि आगे क्या होना है?

ब्रिटिश पीएम के इस्तीफे के बाद क्या होगा?

टोरी सांसद और सदस्य नए नेता को चुनने के लिए एक प्रतियोगिता का आयोजन करेंगे. पार्टी का नया नेता ही देश का अगला प्रधानमंत्री होगा. ऐसा 2019 में भी हो चुका है, जब थेरेसा मे को पद छोड़ना पड़ा था. यहां गौर करने वाली बात ये है कि पार्टी नेतृत्व के लिए होने वाली प्रतियोगिता का नियम अलग-अलग होता है. लेकिन इसके लिए दो स्टेज है और ये पूरा प्रोसेस कई महीनों तक चलता है. पहले स्टेज की बात करें तो टोरी सांसद दो उम्मीदवारों को मैदान में उतारेंगे. दूसरे स्टेज के तहत दोनों में से किसी एक चुनने के लिए एक लाख से ज्यादा टोरी सदस्य वोट करते हैं. हर व्यक्ति का एक वोट माना जाएगा.

क्या देश में अब आम चुनाव हो सकते हैं?

ब्रिटेन में बोरिस जॉनसन के जाने के बाद आम चुनाव नहीं होने वाले हैं. अपने प्रधानमंत्री के चुनाव के लिए तारीखें तय हो चुकी हैं. देश में अगला आम चुनाव जनवरी 2025 में होने वाला है. हालांकि, इससे पहले ही चुनाव हो जाएंगे. दरअसल, पुराने कानून के मुताबिक, अगर सभी पार्टियों के आधे सांसद सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव पर वोट देते हैं, तो तत्काल रूप से आम चुनाव का ऐलान कर दिया जाता है. लेकिन अब इस कानून को निरस्त कर दिया गया है. हालांकि, टोरी पार्टी का चुना गया नया नेता आम चुनाव का ऐलान कर सकता है, ताकि उसे निजी रूप से लोगों के बीच विश्वसनीयता मिल जाए.

अब देश की कमान कौन संभालेगा?

कंजर्वेटिव पार्टी के नेता के तौर पर हटने का मतलब ये नहीं है कि बोरिस जॉनसन को तुरंत प्रधानमंत्री की कुर्सी से हटा दिया जाएगा. दरअसल, प्रधानमंत्री के रूप में इस्तीफा देने के लिए बोरिस को खुद को बकिंघम पैलेस जाना होता और महारानी को अपना त्यागपत्र सौंपना होता. अपने उत्तराधिकारी को चुनने में भी बोरिस की भूमिका होती. वहीं, बोरिस जॉनसन पीएम के तौर पर इस्तीफा देने वाले हैं. ऐसे में कैबिनेट का मैन्युल कहता है कि ये पार्टियों के ऊपर है कि वह केयरटेकर पीएम के रूप में अगला उत्तराधिकारी चुनें. हालांकि, अभी बोरिस जॉनसन ही केयरटेकर प्रधानमंत्री के रूप में देश को संभालने वाले हैं.

Admission.com
www.lyricsmoment.com
admission9.com
lyricsmoment.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.