‘ऑटो का ब्रेक फेल हो गया’, उद्धव ठाकरे के इस तंज पर सीएम शिंदे का पलटवार, ‘लेकिन मर्सिडीज को पीछे छोड़ा’

Shinde Uddhav

महाराष्ट्र (Maharashtra) में बीजेपी-शिंदे सरकार के गठन के बाद अब जुबानी जंग तेज हो गई है. पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) और वर्तमान सीएम एकनाथ शिंदे (Eknath Shinde) के बीच वाकयुद्ध शुरू हो गया है. शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने सीएम शिंदे पर तंज कसते हुए कहा है कि एक ऑटो चालक है, जिसका ब्रेक फेल हो गया, क्योंकि वह बहुत तेज दौड़ रहा था. यह पहली बार है जब उद्धव ने सीएम शिंदे को ऑटो ड्राइवर कहकर उनपर निशाना साधा है. हालांकि उद्धव के इस बयान पर पलटवार करते हुए शिंदे ने कहा कि नई सरकार आम आदमी की सरकार है और ऑटो की रफ्तार ने मर्सिडीज को पीछे छोड़ दिया है.

मंगलवार को सेना भवन में शिवसेना की महिला विंग की एक बैठक को संबोधित करते हुए उद्धव ठाकरे ने सीएम शिंदे सहित बागी विधायकों को देशद्रोही बताया. उद्वव ठाकरे ने कहा, ”सोमवार को विधानसभा के भाषण ने यह स्पष्ट कर दिया कि विद्रोह की साजिश कब शुरू हुई थी. डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस शिंदे को रुकने के लिए कह रहे थे, लेकिन ऑटो का ब्रेक फेल हो गया था, यह कैसे रुकेगा? पहले बीजेपी वाले एमवीए सरकार को तिपहिया सरकार कहते थे, लेकिन अब वह खुद तिपहिया वाली सरकार चला रहे हैं.”

शिवसेना केबागियों ने घोपा पीठ में छुरा- उद्धव

उद्धव ठाकरे ने शिवसेना केबागियों को पीठ में छुरा घोंपने वाला करार दिया और कहा, ”जिन्हें पार्टी की बागडोर दी गई, उन्होंने पीठ में छुरा घोंपा. यह सबसे शर्मनाक बात है.” अपने भाष में उद्धव ठाकरे ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) और कांग्रेस की तारीफ करते हुए कहा कि “जो लोग 30 साल से हमारे खिलाफ थे, वह हमारी पार्टी के साथ खड़े थे.”

मर्सिडीज कार चलाकर राजभवन अपना इस्तीफा देने पहुंचे थे उद्धव

बता दें कि राजनीति में आने से पहले एकनाथ शिंदे आजीविका चलाने के लिए ऑटो रिक्शा चलाते थे. सीएम शिंदे ने उद्धव पर पलटवार करते हुए मराठी में ट्वीट किया, ऑटो रिक्शा, मर्सिडीज (कार) से आगे निकल गया…क्योंकि यह सरकार आम आदमी की है. शिंदे ने कम से कम 40 विधायकों के साथ शिवसेना नेतृत्व से बगावत कर दी थी, जिसकी वजह से पिछले हफ्ते ठाकरे नीत महा विकास अघाडी की सरकार गिर गई थी. उस दौरान शिवसेना नेताओं ने शिंदे पर तंज कसते हुए उन्हें ऑटो रिक्शा चालक बताया था. उद्धव ठाकरे ने विधानसभा में विश्वासमत पर मतदान होने से पहले ही 29 जून को इस्तीफा दे दिया था. इसके अगले दिन शिंदे ने 30 जून को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी. ठाकरे खुद मर्सिडीज कार चलाकर राजभवन अपना इस्तीफा देने पहुंचे थे.

Admission.com
www.lyricsmoment.com
admission9.com
lyricsmoment.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.